Monday, September 20, 2010

Just a sweet poem by a lover……..

उसे सपने देखना पसंद है, मुझे सपने में वो,
उसे बारिश पसंद है, मुझे बारिश में वो,
उसे हसना पसंद है, मुझे हस्ते हुए वो,
उसे बोलना पसंद है, मुझे बोलते हुए वो,
उसे मैं कभी पसंद नहीं आया, और मुझे पसंद आये तो वो और सिर्फ वो.......

1 comment: